ACCIDENT : मालगाड़ी से टकराई बच्ची, जिला अस्पताल में किया गया भर्ती

जगदलपुर। बस्तर जिले के किरंदुल-कोत्तावालसा रेललाइन में रविवार को एक बड़ा हादसा हो गया। बचेली से लौह अयस्क भरकर विशाखापट्नम जा रही मालगाड़ी के सामने अचानक एक बच्ची आ गई

ACCIDENT : मालगाड़ी से टकराई बच्ची, जिला अस्पताल में किया गया भर्ती

जगदलपुर। बस्तर जिले के किरंदुल-कोत्तावालसा रेललाइन में रविवार को एक बड़ा हादसा हो गया। बचेली से लौह अयस्क भरकर विशाखापट्नम जा रही मालगाड़ी के सामने अचानक एक बच्ची आ गई। ट्रेन की चपेट में आने से बच्ची गंभीर रूप से घायल हो गई। इलाज के लिए उन्हे दंतेवाड़ा के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

इधर, घटना के बाद मारपीट के भय से घबराकर पहले चालक जंगल में भाग गया। चालक को ट्रेन छोड़कर भागते देख सहायक चालक और गार्ड भी भाग निकले। लिहाजा इस रूट पर ट्रेनों का आवागमन 4 घंटे तक बाधित रहा।

मिली जानकारी के अनुसार, एक मालगाड़ी बचेली से लौह अयस्क भरकर विशाखापट्नम जा रही थी। इसी दौरान डाकपाल स्टेशन के समीप मालगाड़ी के सामने अचानक सात साल की एक बच्ची आ गई। उसको बचाने के लिए आपातकालीन ब्रेक लगाया, लेकिन बच्ची इंजन से टकरा गई। ट्रेन खड़ी होते ही लोगों के एकत्र होने और मारपीट के भय से घबराकर पहले चालक जंगल में भाग गया। चालक को ट्रेन छोड़कर भागते देख सहायक चालक और गार्ड भी भाग निकले।

घटना की जानकारी मिलने पर रेलवे सुरक्षा बल और नजदीकी गीदम थाना से पुलिस टीम में घटनास्थल पहुंचने के बाद चालक दल दो घंटे बाद लौटा। इस बीच ट्रेन जंगल खड़ी रही। घटना के कारण 10 बजे से दोपहर एक बजे तक डाकपाल- कावड़गांव के बीच रेल आवागमन बंद रहा। 

ज्ञात हो कि घटनास्थल का इलाका जंगली और नक्सल प्रभावित होने से यहां ट्रेन परिचालन को चालकदल हमेशा भयभीत रहते हैं। बताया गया कि महिला अपनी बेटी के साथ रेलमार्ग के किनारे खेत में नहाने आई थी। मां नहा रही थी, इसी दौरान बच्ची खेलते-खेलते 30 मीटर दूर रेलपटरी तक पहुंच गई और ट्रेन की चपेट में आ गई। घटना की जांच चल रही है।