कोरोना संक्रमण को लेकर बड़ी लापरवाही, 3 महीने में बिना मास्क पकड़े गए 2000 यात्री

महाप्रबंधक विनय कुमार त्रिपाठी के निर्देश पर स्टेशन पर और ट्रेनों में बिना फेस मास्क के चलने वाले यात्रियों के खिलाफ लगातार जांच अभियान चल रहा है

कोरोना संक्रमण को लेकर बड़ी लापरवाही, 3 महीने में बिना मास्क पकड़े गए 2000 यात्री

देश में कोरोना वायरस संक्रमण के लिहाज से भले ही हालात अभी काबू में हो लेकिन बला पूरी तरह से खाली नहीं है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जनता द्वार कोरोना वायरस संक्रमण के लिए बनाए गए प्रोटोकाल रंग से फॉलो नहीं किए जा रहे हैं। रेलवे स्टेशन पर बिना फेस मास्क के पहुंचे तो पकड़े जाएंगे इतना ही नहीं पकड़े जाने पर ₹500 तक का जुर्माना देना पड़ सकता है।

रेलवे का जांच अभियान

 महाप्रबंधक विनय कुमार त्रिपाठी के निर्देश पर स्टेशन पर और ट्रेनों में बिना फेस मास्क के चलने वाले यात्रियों के खिलाफ लगातार जांच अभियान चल रहा है। स्टेशन डायरेक्टर आशुतोष गुप्ता की टीम ने तीन माह में बिना फेसमास्क के दो हजार यात्रियों को पकड़ा है। जुर्माना के रूप में चार लाख 16 हजार रुपये की वसूली की गई है।

यह भी पढ़े : डेनमार्क की प्रधानमंत्री का भारत दौरा, जानिए कुछ बड़ी बातें

फिलहाल, रेलवे प्रशासन का यह जांच अभियान आगे भी जारी रहेगा। दरअसल, रेलवे बोर्ड ने भी स्टेशनों और ट्रेनों में कोरोना प्रोटाेकाल की अवधि छह माह तक बढ़ा दी है। अब 16 अप्रैल 2022 तक फेस मास्क, शारीरिक दूरी और हैंड सैनिटाइजेशन अनिवार्य रहेगा।