बिजली संकट पर केंद्र का एक्शन, जानिए क्या निकाला समाधान

इसे एक हफ्ते में इसको बढ़ाकर 2000000 टन कर दिया गया है। इसको एक सप्‍ताह में बढ़ाकर हर रोज 20 लाख टन किया जाएगा।

बिजली संकट पर केंद्र का एक्शन, जानिए क्या निकाला समाधान

कोयले की कमी से होने वाले बिजली संकट को ध्यान में रखते हुए खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मामले में दखल देने का ऐलान कर दिया है इसके जरिए अब जल्द ही राज्यों की बिजली संकट से जुड़ी समस्याएं समाप्त हो सकती हैं। बता दें कि अब केंद्र सरकार बिजली संकट को देखते हुए पूरी तरह से मुस्तैदी दिखा रही है।

होगी बिजली की आपूर्ति

जानकारी सामने आई है कि इस समय ताप बिजली घरों की रोजाना की कोयला की मांग करीब 1900000 टन है वहीं सोमवार को 19.5 लाख कोयले की आपूर्ति की गई। इसे एक हफ्ते में इसको बढ़ाकर 2000000 टन कर दिया गया है। इसको एक सप्‍ताह में बढ़ाकर हर रोज 20 लाख टन किया जाएगा। इस बात की भी उम्‍मीद है कि इस माह के अंत तक अधिकतर बिजली घरों के पास आठ दिनों के कोयले का भंडार उपलब्‍ध होगा।

यह भी पढ़े : दिल्ली से पकड़ा गया पाकिस्तानी आतंकी, बड़ी साजिश को देने वाला था अंजाम

कोयला मंत्रालय ने राज्‍यों से कहा है कि वो कोल इंडिया के स्टाक से कोयला ले जाएं। केंद्र के मुताबिक बीते चार दिनों में संयंत्रों को होने वाली कोयला आपूर्ति में काफी सुधार हुआ है। सरकार ये भी साफ कर चुकी है कि जो राज्‍य केंद्र सरकार के बिजली प्लांट से आवंटित बिजली की आपूर्ति अपने ग्राहकों को नहीं करेंगे उनके खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी।