3 बीघा जमीन के लिए नाती ने की नाना की हत्या, जलाया शव

70 वर्षीय बुजुर्ग लाला जी की हत्या के बाद पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू की तो गांव के एक व्यक्ति ने पुलिस को 2 सितंबर की शाम को आशीष उसके एक दोस्त को सफेद अपाचे से गांव जानवरों के बाड़े की तरफ जाने की बात बताई थी.

3 बीघा जमीन के लिए नाती ने की नाना की हत्या, जलाया शव

उत्तर प्रदेश के सरसौल के महाराजपुर से एक दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है जहां लापता बुजुर्ग की नाती ने बात 3 बीघा जमीन के लिए अपहरण करके उसकी हत्या कर दी बाद में शव को आग लगा दी। बताया जा रहा है कि नाती ने सबको बिधनू के जंगल में जलाकर ठिकाने लगा दिया। जिसके बाद खुलासा होने पर पुलिस ने हत्या में शामिल नाती समेत तीन के खिलाफ हत्या साक्ष्य मिटाने समेत कई आनी मुख्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया। 

कैसे हुआ हत्या का खुलासा ? 

70 वर्षीय बुजुर्ग लाला जी की हत्या के बाद पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू की तो गांव के एक व्यक्ति ने पुलिस को 2 सितंबर की शाम को आशीष उसके एक दोस्त को सफेद अपाचे से गांव जानवरों के बाड़े की तरफ जाने की बात बताई थी इस पर पुलिस के शक की सुई आशीष की तरफ घूमी वही संदीप के चचेरे भाई सामने भी आशीष में उसके दोस्तों को लालाजी को बाइक में बीच में बैठा कर ले जाते देखने के बाद बताई थी।

यह भी पढ़े : नए कानून पर शिवराज सरकार कर रही विचार, गरीबों में बटेगा अपराधियों का पैसा

जांच पड़ताल में पता चला कि लालजी के हिस्से में कुल चार बीघे जमीन थी। इसमें से वह करीब एक बीघा जमीन पहले ही बेटी शशि के नाम कर चुके थे। आशीष उन पर बची हुई तीन बीघे जमीन भी मां शशि के नाम करने का दबाव बना रहा था, जबकि वह बची जमीन उनकी देखरेख करने वाले अपने भाइयों और उनके बच्चों को देना चाहते थे।