मध्य प्रदेश : हिंदी भाषा में शुरू किया जाएगा मेडिकल कोर्स की पढ़ाई

साल 2016 में अटल बिहारी वाजपेई हिंदी विश्वविद्यालय में हिंदी में इंजीनियरिंग और चिकित्सा की शिक्षा की घोषणा की थी जिसके बाद हिंदी माध्यम में इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम की शुरुआत भी की लेकिन पहले वर्ष में केवल।

मध्य प्रदेश : हिंदी भाषा में शुरू किया जाएगा मेडिकल कोर्स की पढ़ाई

मध्यप्रदेश में हिंदी भाषा में भी अब मेडिकल की पढ़ाई कराई जाएगी बता दें कि इसकी घोषणा राज्य के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग द्वारा की गई है। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश सरकार भविष्य में हिंदी में चिकित्सा का अध्ययन कराने का विकल्प जरूर छात्रों को देगी जिसमें एमबीबीएस कोर्स, नर्सिंग और अन्य पैरामेडिकल कोर्स में हिंदी माध्यम कैसे शुरू किया जाए यह तय करने के लिए हम जल्द से जल्द एक समिति बनाने जा रहे हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि चिकित्सा शिक्षा पाठ्यक्रम सामग्री हिंदी में भी तैयार हो सके। 

आपको बता दें कि आज से 5 साल पहले भी हिंदी में चिकित्सा पढ़ाने की कोशिशें की गई थी दरअसल साल 2016 में अटल बिहारी वाजपेई हिंदी विश्वविद्यालय में हिंदी में इंजीनियरिंग और चिकित्सा की शिक्षा की घोषणा की थी जिसके बाद हिंदी माध्यम में इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम की शुरुआत भी की लेकिन पहले वर्ष में केवल 3 छात्रों ने प्रवेश लिया और बाद में विश्वविद्यालय ने पाठ्यक्रम को मजबूरन बंद कर दिया। 

यह भी पढ़े : एक्शन में सीएम शिवराज, तहसीलदार समेत तीन को किया सस्पेंड

हालांकि चिकित्सा की पढ़ाई अटल बिहारी हिंदी विश्वविद्यालय शुरू नहीं कर सका क्योंकि इसे भारतीय चिकित्सा परिषद में अनुमति नहीं मिल पाई। हिंदी विश्वविद्यालय के कुलपति रामदेव भारद्वाज ने कहा कि अब राज्य सरकार ने पाठ्यक्रम के लिए अनुमति लेने का फैसला किया है और पाठ्यक्रम हिंदी विश्वविद्यालय द्वारा तैयार किया जाएगा। ऐसे में जल्द बच्चों को हिंदी में भी मेडिकल की पढ़ाई  शुरू हो जाएगी।