इस रिपोर्ट में हुआ दावा, चिंताजनक नहीं है कोरोना का नया वेरिएंट

इंडियन सॉर्स-कोर्व-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम (INSACOG) की जारी की गई ताजा रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि अन्य डेल्टा वेरिएंट से तुलना करने पर AY.4.2 की प्रभावशीलता अलग नहीं लगती है। 

इस रिपोर्ट में हुआ दावा, चिंताजनक नहीं है कोरोना का नया वेरिएंट

देश में कोरोना वायरस संक्रमण की तीसरी लहर की संभावनाएं बरकरार हैं। खाना की करुणा के नए वेरिएंट एवाई.4.2 की तीव्रता अन्य सभी वैज्ञानिक की तुलना में बेहद कम बताई जा रही है। जानकारी के अनुसार इसकी तीव्रता 0.1 है और यह है इतनी कम है कि चिंताजनक स्थिति नहीं उत्पन्न कर सकती है.

इंसाकॉग की रिपोर्ट में खुलासा

इंडियन सॉर्स-कोर्व-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम (INSACOG) की जारी की गई ताजा रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि अन्य डेल्टा वेरिएंट से तुलना करने पर AY.4.2 की प्रभावशीलता अलग नहीं लगती है। 

यह भी पढ़ें : पेट्रोल डीजल पर पंजाब सरकार का भी ऐलान, जानिए कितने घटे दाम

इंसाकॉग का कहना है कि एवाई.4.2 वैरिएंट की तीव्रता अन्य सभी वैरिएंट्स आफ कंसर्न या वैरिएंट आफ इंट्रेस्ट (VOC/VOI) के मुकाबले इस बार 0.1 फीसदी से भी कम है। रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्तमान में ऐसा कोई बॉयोलॉजिकल आधार नहीं है, जिससे इस वैरिएंट की संक्रामकता बढ़ने का महामारी के संदर्भ में आकलन किया जा सके। इसकी आगे जांच चल रही है।